चाईबासा पुलिस को उड़ाने की बड़ी साजिश हुआ नकाम, सीअरपीएफ 175 बटालियन के जवानों ने किया बरामद, उसी स्थान पर किया गया 10 केजी का केन बम बिनिष्ट

नक्सलियों के बिरूद्व चल रही थी जराईकेला थाना क्षेत्र के दीघा में सर्च अॉपरेशन

भास्कर न्यूज,चाईबासा। रविवार को भी जिले के सारंड़ा क्षेत्र में पड़ने वाले जराईकेला थाना क्षेत्र के दीघा तिरिलपोसी मुख्यमार्ग के सड़क के बिचो बिच नक्सलियों नें पुलिस को बड़ी नुकसान पहूंचाने कि साजिश राची थी।लेकिन सीआरपीएफ 174 के एसी मनोज कुमार के नेतृत्व में चल रहे नक्सलियों के बिरूद्व सर्च अभियान के दौरान 10 किलो का केन बम पाया गया।जिससे त्वरित कार्रवाई करते हुए उक्त बम को उसी जगह विनिष्ट कर दिया गया।हलांकि इस सबंध में पुलिस कप्तान अजय लिण्डा नें पूर्व में कहा था कि क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा बड़े पैमाने पर आईडी बम बिछा रखा है।कुछ तो बरामद की गई है और बाकी को बरामद करने के लिए सर्च अॉपरेशन जारी है।मालूम हो पिछले दिनों राज्य के डीजीपी निरज कुमार सिन्हा के द्वारा नक्सलियों के बिरूद्व बड़ी अभियान चलाने को लेकर सीआरपीएफ के साथ बैठक की गई थी और योजना बनाई गई थी।इसी योजना के तहत शायद नक्सलियों के बिरूद्व जराईकेला थाना क्षेत्र में सर्च अभियान चला रखा था।सर्च अभियान चलाते चलाते जैसे ही सारंडा के दीघा – तिरिलपोसी मुख्य सड़क पहूंचे तो सीआरपीएफ के एसी मनोज कुमार की नजर पड़ी और तुरंत उस क्षैत्र को घेरा बंदी करते हुए सड़क के बीच लगाया गया केन बम को नष्ट कर दिया गया।जिसके कारण सीआरपीएफ को मिली सफलता। सीआरपीएफ 174 /ई कंपनी ने सर्च अभियान के दौरान लगभग 10 केजी केन बम बरामद किया, जिसे मौके पर ही नष्ट कर दिया गया। मालुम हो कि मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले गितीलिपी मुख्यमार्ग में जिस तरह नक्सलियों द्वारा 11 फरवरी को पुलिस को उड़ाने के लिए भाड़ी भड़कंप केन बम सड़क चे बिचों बिच लगा रखा था ठिक उसी तरह लगा रखा था।बताया जा रहा है कि भगवान का शुक्र था कि उस मार्ग से मौके पर कोई ग्रामीण या फिर बड़ी वाहन तथा पुलिस की वाहन नहीं गुजरी वरणा रविवार का दीन भी चाईबासा पुलिस के लिए गमगीन हो जाता।साथ ही भी सूचना है की नक्सलियों द्बारा पुलिस को अपने रड़ार पर बना रखा है और मौके की ताख पर है,लेकिन सीआरपीएफ की पैनी नजर नक्सलियों के मनसुबेंपर पानी फेड़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!