जुगसलाई गौरी शंकर रोड गुरुद्वारा में मंगलवार को 323 वां खालसा पंथ सृजना दिवस परंपरा एवं श्रद्धा के साथ मनाया गया.

जुगसलाई गौरी शंकर रोड गुरुद्वारा में मंगलवार को 323 वां खालसा पंथ सृजना दिवस परंपरा एवं श्रद्धा के साथ मनाया गया. इस मौके पर जुगसलाई विधायक मंगल कालिंदी मुख्य अतिथि स्वरूप उपस्थित हुए| गुरु तेग बहादुर जी की शहादत के बाद परिस्थितियों को ध्यान में रखकर 1699 की बैसाखी में आनंदपुर में गुरु गोविंद सिंह जी ने खालसा पंथ सजाया था. पांच अलग-अलग जाति एवं देश के पांच कोने से आए श्रद्धालु भाई दयाराम, भाई धर्म चंद्र, भाई मोहकम चंद, भाई साहेब चंद और भाई हिम्मत राय खंडा बाटे का पाहुल अमृत लेकर पहले पांच खालसा सजे और उनके हाथों से गुरु गोविंद सिंह जी ने भी खुद अमृत छका और सिंह सजे. वाहेगुरु के बताए रास्ते पर चलते हुए गौरी शंकर रोड स्थित गुरुद्वारे में खालसा पंथ सृजना दिवस काफी हर्षोल्लास के साथ वैश्विक महामारी को ध्यान में रखते हुए मनाया गया जानकारी देते हुए गुरुद्वारा के प्रधान अमरजीत सिंह ने कहा कि सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन का ख्याल रखते हुए कीर्तन दरबार सजाया गया है जहां इस समागम में क्षेत्र के विधायक समेत महिला पुरुष सिख धर्मावलंबी उपस्थित हुए वहीं उन्होंने पूरे देशवासियों को बैसाखी के त्यौहार की बधाइयां दी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!