जिला उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक के संयुक्त अध्यक्षता में आगामी रामनवमी पर्व को लेकर विधि-व्यवस्था संधारण से संबंधित बैठक किया गया|

चाईबासा। पश्चिमी सिंहभूम जिला दंडाधिकारी-सह-जिला उपायुक्त अनन्य मित्तल एवं पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा के संयुक्त अध्यक्षता तथा अपर उपायुक्त एजाज़ अनवर, पुलिस उपाधीक्षक(मुख्यालय) सुधीर कुमार, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, थाना प्रभारी सदर/मुफ्फसिल/चक्रधरपुर, सार्जेंट मेजर-पुलिस लाइन केंद्र, चाईबासा के उपस्थिति में कोविड-19 वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव तथा आगामी रामनवमी पर्व के परिपेक्ष्य में सरकार द्वारा निर्गत अनुदेश का अनुपालन सुनिश्चित करने के उद्देश्य आवश्यक विधि-व्यवस्था संधारण हेतु महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों को सरकार द्वारा निर्गत अनुदेश के आलोक में निर्धारित कार्य एवं दायित्व की जानकारी से अवगत करवाया गया। बैठक में बताया गया कि आगामी 21 अप्रैल 2019 को रामनवमी त्योहार निर्धारित है परंतु वर्तमान समय में कोविड-19 संक्रमण के संभाव्य प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सभी प्रकार के सार्वजनिक आयोजन एवं जुलूस पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावे लाउडस्पीकर/डीजे के माध्यम से बजाए जाने वाले उत्तेजक गाने एवं भड़काऊ नारे को भी प्रतिबंधित किया गया है तथा रामनवमी के दिन जिले की सभी शराब दुकानें भी बंद रहेगी।

बैठक में उपस्थित अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देशित करते हुए बताया गया कि अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत विधि व्यवस्था के सुचारू रूप से संचालन हेतु पूर्व से ही संवेदनशील स्थानों को चिन्हित करते हुए दंडाधिकारी एवं सशस्त्र बल की प्रतिनियुक्ति आवश्यकतानुसार किया जाए। इसके अलावा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से सामंजस्य स्थापित करते हुए क्षेत्र के असामाजिक तत्वों पर विधि-सम्मत कार्रवाई भी सुनिश्चित किया जाए। जिले के सभी अखाड़ों एवं मंडल समूह के साथ वार्ता करते हुए वर्तमान परिवेश से उन्हें अवगत करवाया जाए।

बैठक में निर्देशित किया गया कि सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी/थाना प्रभारी नियमित रूप से गश्ती करते हुए क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम रखेंगे और आवश्यक रूप से सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित होने वाले विवादित तस्वीरों एवं संवादों पर निगरानी रखें। सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने या आपत्तिजनक गतिविधि एवं सूचना प्रसारित करने वालों पर भारतीय दंड संहिता के सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई भी सुनिश्चित किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!