सोमवार को झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान शिक्षामंत्री जगरनाथ महतो की तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई.

जिसके बाद उनको धुर्वा के एचईसी-पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया. यहां उनकी प्रारंभिक जांच की गई. सीटी स्कैन सहित सभी प्रकार की जांच की गई. जिसमें फेफड़ा में माइल्ड इंफेक्शन के संकेत मिले. इसके बाद उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया. वहीं देर रात उन्हें एयर एंबुलेंस से चेन्नई शिफ्ट कर दिया गया. बता दें, सीटी स्कैन सहित सभी प्रकार की जांच की गयी, जिसमें फेफड़ा में माइल्ड इंफेक्शन के संकेत मिले हैं. इसके बाद उनको आइसीयू में शिफ्ट किया गया. रात में उन्हें एयर एंबुलेंस से एमजीएम चेन्नई शिफ्ट कर दिया गया.

आपका बता दें, विधानसभा में चल रहे मानसून सत्र के दौरान शिक्षामंत्री p महतो ने सीने में दर्द और सांस लेने में परेशानी महसूस होने की बात कही, इसके बाद उन्हें आनन-फानन में एंबुलेंस से रांची के धुर्वा स्थित पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शिक्षामंत्री की तबीयत खराब होने की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अस्पताल पहुंचकर उनसे मुलाकात की और उनका हाल पूछा था. वहीं रांची एयरपोर्ट पर शिक्षामंत्री को चेन्नई रवाना करने के वक्त मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी मौजूद रहे. सीएम ने उनके शीघ्र स्वास्थ्य की कामना की.

डॉक्टरों की सलाह पर शिफ्ट किया गया चेन्नई

अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि जगरनाथ महतो की तबीयत शुरुआत में स्थिर हो गई थी. लेकिन सुधार नहीं हो रहा था. उनकी मेडिकल हिस्ट्री को देखते हुए चेन्नई भेजा गया है. बताया गया है कि हॉस्पिटल में भर्ती जगरनाथ महतो को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया था. जगरनाथ महतो के पूर्व के मेडिकल केस को देखते हुए पारस अस्पताल के डॉक्टरों ने हैदराबाद के डॉक्टरों से भी संपर्क किया था. हैदराबाद के डॉक्टरों की सलाह पर ही उन्हें आनन-फानन में चेन्नई शिफ्ट करने का निर्णय लिया गया.

पिछले साल मंत्री का हुआ था लंग्स ट्रांसप्लांट

आपको बता दें, शिक्षामंत्री जगरनाथ महतो का पिछले वर्ष चेन्नई के अस्पताल में ही लंग्स ट्रांसप्लांट हुआ था. इसके बाद से जगरनाथ महतो लगातार चेन्नई स्थित अस्पताल के संपर्क में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!