दीपावली एवं आने वाले आस्था का महापर्व छठ पूजा के पावन शुभ अवसर पर झारखंड के कोने-कोने से आए हुए विद्यार्थियों ने रक्तदान के जरिए पेश किया भाईचारे का एक मिसाल.

वैसे तो जरूरत के वक्त दिन कोई मायने नहीं रखता. परंतु कुछ खास दिन होते हैं, जो हर किसी को बेसब्री से इंतजार रहता है. कि अगर उनके इस खास दिन पर अगर मानव सेवा के जरिए एक जीवनदाई बनने का सौभाग्य उनके इस दिन आ जाए. चाहे वह देश के आजादी के दिन हो, या गणतंत्र दिवस का पावन शुभ अवसर हो, या किसी के शुभ दिन के तहत जन्मदिन हो, वैवाहिक वर्षगांठ हो, या कहे परिवार के किसी सदस्य को खोने के बाद उनके पुण्यतिथि को याद करने का दिन हो. हर कोई चाहता है कि इस दिन को किसी ना किसी कार्यों के जरिए या कहें मानव सेवा के जरिए समर्पित करते हुए, एक जीवनदाई बनकर किसी के काम आ सके. तो कहीं ना कहीं उनका यह दिन उनके लिए यादगार तो बनता ही है. बाकी के लिए एक प्रेरणादाई का काम करता है

आज ऐसा ही कारनामा कर दिखाया प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के पहल पर झारखंड के कोने-कोने से आए ” एक्सल टेक्निकल इंस्टीट्यूट धातकिडीह ” के विद्यार्थियों ने, आज जमशेदपुर ब्लड बैंक पहुंचकर दीपावली एवं आने वाले आस्था का महापर्व छठ पूजा को समर्पित करते हुए, जहां किसी संस्था के द्वारा एक दिन में सर्वाधिक सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी ” एसडीपी रक्तदान ” के साथ दिनांक 26 अक्टूबर को 26 रक्त दाताओं ने रक्तदान कर एक जीवनदाई बनते हुए पेश किया एक मिसाल. जहां आज प्रातः बेला 11 बजे से ही ” एक्सल टेक्निकल इंस्टीट्यूट धातकिडीह ” के मोहम्मद राशिद आलम जी की अगुवाई में, कई विद्यार्थियों ने रक्तदान कर मानव धर्म का पालन किया. वंही प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के नियमित रक्त दाताओं में युवा रक्तदाता राजकुमार, राजन बनर्जी, अवधेश कुमार वर्मा, पी. रामाकृष्णन एवं अजीत कुमार भगत ने सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान करते हुए प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन का, या कहे तो किसी संस्था के द्वारा एक दिन में ” सर्वाधिक एसडीपी रक्तदान ” का भी मिसाल पेश किया. और इसी के साथ प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन ने एसडीपी रक्तदान के क्षेत्र में अपना ” 336 बा एसडीपी रक्तदान ” के आंकड़ा को भी पूर्ण कर लिया. आज रक्तदान के पश्चात सभी रक्त दाताओं को जमशेदपुर ब्लड बैंक एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन की ओर से प्रशस्ति पत्र के साथ-साथ प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. इस पावन बेला पर उपस्थित रहे जमशेदपुर ब्लड बैंक के जीएम- संजय चौधरी, अनुभवी एवं वरीय चिकित्सक डॉक्टर लव बहादुर सिंह, अनुभवी तकनीशियन अनूप कुमार श्रीवास्तव, मनोज कुमार महतो, सुभोजित मजूमदार, सह तकनीशियन सुबीर एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार, कुमारेस हाजरा एवं विजोन सरकार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!