गरजा गम्हरिया अंचल कार्यालय का बुलडोजर।

सरायकेला

मंगलम सिटी के मुख्य गेट और बाउंड्री वाल को किया ध्वस्त

सोसायटी वासियों के विरोध के बाद रुका अभियान, आगे की कार्रवाई पर उठ रहे सवाल

गुरुवार को सरायकेला- खरसावां जिला की गम्हरिया अंचल प्रशासन लाव- लश्कर के साथ टाटा- कांड्रा मुख्य मार्ग पर स्थित मंगलम सिटी द्वारा अनाबाद बिहार सरकार अब झारखंड सरकार के करीब 2.03 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने पहुंची.

इस अभियान का नेतृत्व सीआई मनोज कुमार कर रहे थे. उन्हें सहयोग करने थाना प्रभारी राजन कुमार भी पूरी मुश्तैदी से अपने जांबाज ऑफिसरों, महिला व पुरुष जवानों के साथ डटे रहे. पूरे जोर- शोर से अंचल के बुल्डोजर ने अपना काम शुरू किया. सबसे पहले बुलडोजर ने मंगलम सिटी के मुख्य प्रवेश द्वार को ढाया उसके बाद दाएं तरफ के बाउंड्री वॉल को ढाहने के बाद जैसे ही बायीं ओर का रुख बुलडोजर ने किया, सोसायटी वासियों का विरोध शुरू हो गया.

विरोध को देखते हुए तत्काल अभियान को रोक दिया गया. बता दें कि इस अभियान के तहत कुल 2.03 एकड़ भू-भाग को अतिक्रमण मुक्त कराना था, मगर महज 1.5 एकड़ ही जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया. इस अभियान का केंद्र बिंदु मंगलम सिटी का कार्यालय था, मगर अचानक से ही अभियान को रोक दिया गया. अब देखना यह दिलचस्प होगा कि आगे यह अभियान जारी होता है, या सब कुछ मैनेज हो जाता है.

बता दें कि मंगलम डेवलपर्स एंड प्रमोटर्स मशहूर बिल्डर सौरभ अग्रवाल द्वारा डेवलप किया गया एक हाई प्रोफाइल सोसाइटी है. जिसमें सैकड़ों आवासीय परिसर हैं, जिसमें क्षेत्र के रईस लोगों का आशियाना है. बिल्डर द्वारा फर्जी तरीके से सरकारी तालाब का अतिक्रमण कर लिया गया और उसे ऊंचे दामों में बेच दिया गया है. पूरी कार्रवाई के दौरान बिल्डर नदारद रहे. सोसाइटी के लोग गुहार लगाते रहे जिसके बाद प्रशासन ने अभियान रोक दिया.

मनोज कुमार (सीआई- गम्हरिया)

जमशेदपुर के सुंदर नगर थाना अंतर्गत खखड़ी पाड़ा में सरकारी जमीन पर बसे अवैध अतिक्रमण से क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त कराया गया कुल 16 कच्चे व पक्के मकानों को ध्वस्त किया गया इस दौरान सुरक्षा के मद्देनजर कड़े इंतजाम किए गए थे ताकि हर स्थिति से निपटा जा सके

खखड़ी पाड़ा स्थित सरकारी जमीन खाता संख्या 239 और प्लॉट संख्या 805 स्थित सरकारी जमीन पर बने भावनाओं के मालिकों के विरुद्ध केस चल रहा था जहां इस आलोक में आज कार्रवाई करते हुए क्षेत्र में बने कच्चे व पक्के कुल 16 मकानों को ध्वस्त कर पूरे जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया, इस दौरान सुरक्षा के दृष्टिकोण से अनुमंडल कार्यालय के निर्देश पर चार दंडाधिकारियो की मौजूदगी में यह कार्रवाई की गई जहां सुरक्षा के दृष्टिकोण से हर विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात की गई थी,कारवाई के संबंध में जानकारी देते हुए अंचल निरीक्षक हिम्मत लाल महतो ने कहा कि इस कार्रवाई से ऐसे लोगों को सीख लेने की जरूरत है जो दलाल के चक्कर में पड़कर सरकारी जमीन पर घर बनाते हैं और अंततः खामियाजा उन्हें ही भुगतना पड़ता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!