मंदिर का दान पेटी चोरी ।


कदमा थाना अंतर्गत भाटिया बस्ती स्थित काली मंदिर में लाखों रुपए के चोरी का मामला सामने आया है ।बताया जा रहा है की चोरो ने मंदिर का ताला काट कर दान पेटी उड़ा लिया हैं। वैसे मंदिर कमेटी और पुजारी का मानना है कि लगभग लख रुपए उसे दान पेटी में होंगे क्योंकि 1 साल से दान पेटी को नहीं खोला गया था और लोग इस मंदिर में आस्था के अनुसार लोग ज्यादा चढ़ावा चढ़ाते हैं। लेकिन मंदिर से दान पेटी गायब होने पर स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश है ।स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पेट्रोलिंग नहीं करने का आरोप लगाया है कहा है कि असामाजिक तत्व एवं चोरों ने घटने का जान दिया है। अगर पुलिस समय पर पेट्रोलिंग करती तो निश्चित तौर पर मंदिर का दान पेटी चोरी नहीं होता। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

जमशेदपुर मे माँ सरस्वती की पूजा कों लेकर बांस के छोटे बड़े तैयार पंडालों की बिक्री जोरों पर है, बांस के कारीगर इन दिनों शहर मे तमाम तैयार पंडाल बनाते नजर आ रहें हैं

बता दें बांस के लकड़ी कों काटकर अलग अलग तरह से काटकर ये पंडाल तैयार किये जाते हैं, वैसे सरस्वती पूजा जमशेदपुर शहर मे धूम धाम से मनाया जाता है, जहाँ कई स्थानों पर बड़े पंडालों का निर्माण होता है, वहीँ स्कुल कालेज एवं मुहल्लों मे भी छोटे एवं माध्यम आकर के पंडाल स्थापित कर माता की पूजा की जाती है, ऐसे मे इन दिनों तैयार पंडाल यानी रेडीमेड पंडाल भी काफ़ी प्रचलन मे है, घरों से लेकर मुहल्लों और स्कुल कालेजों मे श्रद्धालु इन पंडालों का इस्तेमाल करते हैं जिनमे माता की छोटी बड़ी प्रतिमाएँ रखकर पूजा अर्चना की जाती है, बांस के कारीगर इन दिनों इन पंडालों कों तैयार करने मे जुटे हैं, कारीगरों के अनुसार 600 रूपए से लेकर 5 हजार रूपए तक के पंडाल इनके द्वारा बनाये जाते हैं, साथ ही ग्राहकों के अनुसार पंडाल का डिजाइन भी तैयार किया जाता है, वैसे इनके अनुसार पहले की अपेक्षा मेहँगाई के कारण पंडालों के दामों मे थोड़ा इज़ाफ़ा ज़रूर हुआ है लेकिन तैयार पंडाल होने के कारण इनके बिक्री मे कमी नहीं हुई है।

जमशेदपुर में सुदूर ग्रामीण नक्सल प्रभावित क्षेत्र गुड़ा बांधा के ज्यान गांव के स्कूली छात्र-छात्राओं को ह्यूमन वेलफेयर ट्रस्ट के द्वारा शहर का भ्रमण कराया गया जहा वरीय आरक्षी अधीक्षक के हाथों सभी स्कूली छात्र-छात्राओं के बीच खेल एवं खाद्य सामग्री का वितरण किया गया

कम्युनिटी पुलिसिंग के तहत शहर का भ्रमण करने आए यह सभी स्कूल छात्रा एवं छात्राएं शहर की ऊंची इमारतें देख काफी खुश नजर आ रहे थे इनमें कई छात्र पहली बार शहर का भ्रमण करने पहुंचे थे इनका गांव शहर से मात्र 40 किलोमीटर दूर होने के बावजूद उनकी किस्मत में या पहला मौका था जहा ह्यूमन वेलफेयर ट्रस्ट के सहयोग से जिला पुलिस मुख्यालय में इन सभी छात्र-छात्राओं के बीच खेल एवं खाद्य सामग्री वितरित की गई जहा वरीय आरक्षी अधीक्षक कौशल किशोर एवं आरक्षी अधीक्षक ग्रामीण के अलावा ह्यूमन वेलफेयर ट्रस्ट के सदस्य मौजूद थे जहा वरीय आरक्षी अधीक्षक के द्वारा बच्चों से कई सवाल पूछे गए वही बच्चों ने भी अधिकारियों के सभी सवालों का जवाब दिया वही इस संदर्भ में जानकारी देते हुए वरीय आरक्षी अधीक्षक कौशल किशोर एवं संस्था के अध्यक्ष मुख्तार आलम ने कहा कि शहर की दुनिया से अनजान इन बच्चों को शहर लाकर यहां के रहन सहन के संबंध में जानकारी दी जा रही है वही इन बच्चों को जुबली पार्क चिड़ियाघर का भ्रमण कर कर इनके जनरल नॉलेज को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है

कौशल किशोर (वरीय आरक्षी अधीक्षक)

विगत कई दिनों से व्याप्त बागबेड़ा क्षेत्र की जनसमस्या को दूर करने के उद्देश्य से बागबेड़ा विकास समिति के द्वारा बागबेड़ा गांधीनगर में एक दिवसीय महा धरना दिया गया मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई

बागबेड़ा बडौदा घाट पुल निर्माण करने, संपूर्ण बागबेड़ा क्षेत्र से कचरा उठाओ प्रणाली को लागू करने, चार पंचायत में अविलंब पंचायत भवन बनाने, बागबेड़ा बेहद ग्रामीण जिला पूर्ति योजना को धरातल पर उतारने और बागबेड़ा क्षेत्र के15 किलोमीटर जर्जर सड़क को बनाने समेत पांच सूत्री मांगों को लेकर बागबेड़ा विकास समिति के द्वारा बागबेड़ा गांधीनगर में महाधरना दिया गया जहां इस धरना में क्षेत्र की महिला पुरुष बच्चे सभी शामिल हुए जानकारी देते हुए बागबेड़ा विकास समिति के अध्यक्ष गणेश विश्वकर्मा ने कहा कि क्षेत्र के लोग मूलभूत समस्याओं से परेशान है बच्चों से बड़ों तक को इस समस्या से 2–4 होना पड़ रहा है ऐसे में इन समस्याओं को लेकर महाधरना दिया जा रहा है इसके बाद भी सरकार व जिला प्रशासन की नींद नहीं खुली तो आगे चलकर स्थानीय लोग आंदोलन के लिए बाध्य होंगे जमशेदपुर उपायुक्त कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया जाएगा जनहित के कार्यों के लिए अगर लोगों को सड़क पर उतरना होगा तो इसके लिए भी लोग बाध्य होंगे

भारतीय जनता पार्टी के स्तंभ पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्म जयंती पर पूरे भारत वर्ष समर्पण दिवस मनाया जा रहा है, इसी क्रम में राष्ट्रीय सैलूट तिरंगा के द्वारा जुगसलाई वीर कुंवर सिंह चौक में मेगा स्वास्थ्य जांच शिविर लगाया गया

मेगा स्वास्थ्य जांच शिविर कैंप का आयोजन सलूट तिरंगा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रवि शंकर तिवारी के नेतृत्व में मेडिसिस्ट अस्पताल के सहयोग से लगाया गया जहां इस मेगा कैंप में आंख का नाक रोग विशेषज्ञ, हड्डी रोग विशेषज्ञ, सामान्य रोग विशेषज्ञ, हृदय रोग विशेषज्ञ ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर निशुल्क संबंधित रोग के रोगियों की जांच की साथ ही साथ शिविर में अपनी जांच कराने आए लोगों को निशुल्क दवाइयां भी उपलब्ध कराई गई, मेगा कैंप के संबंध में जानकारी देते हुए सैल्यूट तिरंगा के मेगा कैंप के संयोजक डी डी त्रिपाठी ने कहा कि समर्पण दिवस के उपलक्ष पर मानव सेवा के उद्देश्य से राष्ट्रीय सैल्यूट तिरंगा के द्वारा मेगा कैंप लगाया गया है जिसमें केवल जुगसलाई ही नहीं बल्कि दूर दराज से लोग भी इस कैंप में शामिल होकर निशुल्क मरीजों को अपनी सेवा दे रहे हैं

जमशेदपुर विश्वकर्मा समाज मे अब दो फाड़ नजर आ रहीं है

जहाँ विश्वकर्मा समाज से अलग हटकर बढ़इ विश्वकर्मा समाज के बैनर तले वार्षिक मिलन समारोह का आयोजन किया, वहीँ विश्वकर्मा समाज के वरिष्ठजनों ने इसे गलत करार दिया है.

बता दें शहर मे जमशेदपुर विश्वकर्मा समाज पूर्व से ही संचालित है और इसमें पुरे जिले से सैकड़ों विश्वकर्मा समाज के लोग जुड़े हैं लेकिन इससे अलग हटकर एक गुट ने बढ़इ विश्वकर्मा समाज का निर्माण कुछ वर्षो पूर्व किया था और अब इसमे दो फाड़ नजर आ रहा है, झारखण्ड प्रदेश बढ़इ विश्वकर्मा समाज के बैनर तले साकची स्थित स्टील हाउस प्रांगण मे वार्षिक मिलन समारोह का आयोजन किया गया था, जिसमे बड़ी संख्या मे बढ़इ विश्वकर्मा समाज के लोग एकत्रित हुए, वैसे बढ़इ विश्वकर्मा समाज के महामंत्री मनोज शर्मा ने समाज के एकजुटता के सवाल पर कहा की भगवान विश्वकर्मा के पांच पुत्र थे जिनमे से एक बढ़इ समाज है और वों पहले इस समाज कों एकजुट कर रहे हैं जिसके बाद वों बाकियों कों एकजुट करेंगे.

वहीँ इस मामले मे झारखण्ड प्रदेश विश्वकर्मा समाज के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष अर्जुन शर्मा ने कहा की भगवान विश्वकर्मा के पांच पुत्र अवश्य थे लेकिन पांचो कों एकजुट करने की दिशा मे पूर्व से ही विश्वकर्मा समाज कार्य कर रही है, और इसी के निमित्त जमशेदपुर विश्वकर्मा समाज के संचालन भी होता है, देश के प्रधानमंत्री ने पी.एम विश्वकर्मा योजना की शुरुवात की है जिसमे उन्होने 18 जातियों कों सम्मिलित कर सभी कों योजना से जोड़ने का प्रयास किया है, लेकिन बढ़इ समाज कों अलग कर उन्हें बर्गलाने का कार्य जो भी कर रहे हैं वों गलत है, विश्वकर्मा समाज सभी कों एकजुट कर लगातार उन्हें आगे लेकर चल रहीं है, अगर समाज मे बिखराव होगा तो राजनितिक पार्टियां इसका गलत फायदा उठाएगी, उन्होने कहा की समाज के लोगों कों इस बात कों समझने की जरुरत है की ऐसे लोगों के बहकावे मे ना आएं और सभी एकजुट होकर अपने समाज कों आगे बढ़ाने का प्रयास करें तभी जाकर सभी का विकास पूर्ण रूप से हो पायेगा.

इस मामले मे झारखण्ड प्रदेश विश्वकर्मा समाज के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष अर्जुन शर्मा ने कहा की भगवान विश्वकर्मा के पांच पुत्र अवश्य थे लेकिन पांचो कों एकजुट करने की दिशा मे पूर्व से ही विश्वकर्मा समाज कार्य कर रही है, और इसी के निमित्त जमशेदपुर विश्वकर्मा समाज के संचालन भी होता है, देश के प्रधानमंत्री ने पी.एम विश्वकर्मा योजना की शुरुवात की है जिसमे उन्होने 18 जातियों कों सम्मिलित कर सभी कों योजना से जोड़ने का प्रयास किया है, लेकिन बढ़इ समाज कों अलग कर उन्हें बर्गलाने का कार्य जो भी कर रहे हैं वों गलत है, विश्वकर्मा समाज सभी कों एकजुट कर लगातार उन्हें आगे लेकर चल रहीं है, अगर समाज मे बिखराव होगा तो राजनितिक पार्टियां इसका गलत फायदा उठाएगी, उन्होने कहा की समाज के लोगों कों इस बात कों समझने की जरुरत है की ऐसे लोगों के बहकावे मे ना आएं और सभी एकजुट होकर अपने समाज कों आगे बढ़ाने का प्रयास करें तभी जाकर सभी का विकास पूर्ण रूप से हो पायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!