पीएसएफ के युवा रक्तवीर योद्धा राजकुमार ने अपना 16 वा एसडीपी रक्तदान को मां भगवती के नाम किया समर्पित.

नवरात्रि के आज सातवें दिन श्री श्री मां कालरात्रि दुर्गा शक्ति, एवं महा सप्तमी पर मां भगवती की आराधना करते हुए, पीएसएफ के युवा रक्तवीर योद्धा राजकुमार ने अपना 16 वा एसडीपी रक्तदान को मां भगवती के नाम किया समर्पित. ऐसे ही मानव सेवा कर रक्तदान को बनाया यादगार.

आज दिनांक 15 अप्रैल 2024, चारों और नवरात्रि यानी श्री श्री मां भगवती की पुजा अर्चना में लीन हैं. वहीं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन यानी पीएसएफ एवं जमशेदपुर ब्लड सेंटर के आह्वान पर, आज महा सप्तमी एवं नवरात्रि के सातवें दिन श्री श्री मां कालरात्रि दुर्गा शक्ति स्वरूपा की आराधना करते हुए, पीएसएफ के युवा रक्तवीर योद्धा राजकुमार ने, र्भाईचारा का मिसाल पेश करते हुए, अस्पताल में इलाजरत किसी जरूरतमंद के लिए, 16 बां सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान कर अपना 17 बां स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान को पुरा किया. और इसी एसडीपी रक्तदान के जरिए पीएसएफ ने एसडीपी रक्तदान के अभियान में 831 बां एसडीपी रक्तदान को भी पूर्ण कर लिया. रक्तदान करने के पश्चात युवा रक्तवीर योद्धा राजकुमार को जमशेदपुर ब्लड सेंटर एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन की और से प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. इस पावन बेला पर उपस्थित रहे जमशेदपुर ब्लड सेंटर के जीएम संजय चौधरी, एमटीएमएच के प्रशासक अमिताभ चटर्जी, अनुभवी एवं वरीय चिकित्सक डॉक्टर रिता सिंह, डॉक्टर निर्जला झा, अनुभवी तकनीशियन अनुप कुमार श्रीवास्तव, एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!