झारखंड मुक्ति मोर्चा के परसुडीह स्थित कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया,

संयुक्त ग्राम विकास समिति द्वारा चलाए जा रहे जन सत्याग्रह को झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बीजेपी की ओछी राजनीति करार दिया है जहां उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि अपने कुकृत्य को छिपाने के लिए संयुक्त ग्राम विकास समिति का सहारा लेकर जनता को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है.

वही इस संबंध में झारखंड मुक्ति मोर्चा के परसुडीह स्थित कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया, जहां इस दौरान झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी का पोल खोलने का काम किया वही जानकारी देते हुए झारखंड मुक्ति मोर्चा प्रखंड सचिव मिथुन चक्रवर्ती ने बताया कि जन सत्याग्रह चलाकर लोगों को गुमराह करने का प्रयास भारतीय जनता पार्टी कर रही है इसके लिए उनके द्वारा संयुक्त ग्राम विकास समिति का सहारा लिया जा रहा है उन्होंने कहा जिस योजना के तहत सड़क की स्थिति जर्जर हुई है उस योजना की शुरुआत 2015 में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा शुरू किया गया था और उसे दो हजार अट्ठारह तक संपन्न करना था पर 2019 तक भी इस योजना को ग्रामीणों के सुपुर्द नहीं किया गया उस समय की भारतीय जनता पार्टी की सरकार अपनी सहयोगी पार्टी आजसू के साथ मिलकर योजना में लगे लागत का बंदरबांट किया और अपने कुकृत्य अपनी गलतियों को छिपाने के लिए वर्तमान सरकार पर आरोप लगाया जा रहा है उन्होंने कहा राज्य के लोकप्रिय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की लोकप्रियता से घबराकर भारतीय जनता पार्टी संयुक्त ग्राम विकास समिति का सहारा लेकर लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रही है उन्होंने साफ कहा कि बहुत जल्द पोटका और जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र के विधायक लोगों की समस्याओं को दूर करने का प्रयास करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!