गजराज का आंतक लगातार जारी, ग्रामीण रात भर पहरा देने को मजबुर

सरायकेला जिला के ईचागढ़ प्रखंड क्षेत्र के पिलीद एवं कुटाम पहाड़ जंगल मे डेरा जमाए दर्जनों हाथीयों का झुंड सालुकडीह,पापरीदा, कुटाम, राणाडीह, नरसिंह लोवाडीह एवं सीमावर्ती क्षेत्र राँची जिला के सोनाहातू पूर्वी क्षेत्र में जंगली हाथियों का झुंड उत्पात मचा रहा है । हाथीयो का आंतक का दायरा बढ़ते जा रहा है। जहां रोजाना जंगली हाथी ईचागढ़ के पिलीद जंगल से निकलकर पिलीद, सालुकडीह, चोगाटांड़,रघुनाथपुर, बीरडीह,पैलंग, सपादा एवं सोनाहातू प्रखंड क्षेत्र के किसी न किसी गांव में किसानों के फसलों को रौंद कर बर्बाद कर रहा है। वही लोगो के घरों को भी निशाना बनाकर तोड़ रहा है। बीते रात को जंगली हाथियों के झुंड ने सालुकडीह पापरीदा तरुण महतो के खेत में लगे लौकी, परमेश्वर महतो एवं परिक्षित महतो के खेत में लगे पालक साग व फुल गोभी, बाडु पुरान के राहड़ एवं दुर्गा प्रसाद महतो के खेत में लगे आलु के फसल को बर्बाद कर डाला। मालुम हो कि जंगली हाथी दिन भर पिलीद जंगल मे रहने के बाद देर शाम पांच बजते ही जंगल आसपास गांव के खेतों की धान फसल को नुकसान पहुंचाते है और घरों को निशाना बनाकर सुबह वापस जंगल में लौट जाते हैं।जिससे वन विभाग से लोग खासे नाराज है| वहीं लोगों ने वन विभाग से इस क्षेत्र से हाथी को भगाने एवं समय पर मुआवजा देने तथा विभाग की ओर से जला मोबिल, पटाखा, एवं ट्रार्च का भी मांग किया| ग्रामीण तरुण महतो का कहना है की रात भर जग कर हाथी भगाया जा रहा है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!