टाटानगर स्टेशन में होने वाले आपातकाल की स्तिथि के रेल प्रसाशन की मुस्तैदी एवं आपातकाल सहायता को मजबूत करने हेतु मॉक ड्रिल किया गया

जमशेदपुर में टाटानगर स्टेसन में होने वाले आपातकाल की स्तिथि के रेल प्रसाशन की मुस्तैदी एवं आपातकाल सहायता को मजबूत करने हेतु मॉक ड्रिल किया गया , जिसमे एन. डी. आर.एफ ने अहम भूमिका निभाई ।

वैसे देखा जाए टी चक्रधरपुर रेल मंडल में कई बड़े ट्रेन हादसे हो चुके हैं , और इसी को देखते हुए आपातकालीन रिलीफ के लिए मॉक ड्रिल किया गया । मॉक ड्रिल में टाटानगर स्टेशन में शनिवार सुबह 10 बजकर 26 मिनट पर 5 हूटर बजे। पूछताछ पर मालूम चला कि टाटानगर रेलवे स्टेशन से आगे एक ट्रेन की दुर्घटना हुई है। फिर क्या था, सूचना मिलते ही पूरा रेलवे महकमा हरकत में आ गया। सभी रेल के अधिकारी किसी तरह दुर्घटनास्थल पर पहुंचने के लिए जरूरी संसाधन जुटाने लगे और लगभग 10 मिनट बाद ही दुर्घटनास्थल के लिए रिलीफ ट्रेन को रवाना किया गया।

यहां पहुंचने पर पता चला कि रेलवे की दो बोगियां पटरी से उतर चुकी हैं। एक बोगी पलटी है जबकि दूसरी उसके ऊपर चढ़ गई है। दुर्घटना में कई लोग घायल हुए हैं। मौके पर सिविल टीम और एनडीआरएफ की टीम पहुंची और घायलों के इलाज के लिए उन्हें मेडिकल सुविधा दे रही है। इस दौरान स्थानीय टीम की रिलीफ टीम की उद्घोषणा सुनाई दे रही थी कि कृपया भीड़ न लगाएं। बाहरी लोग दुर्घटना स्थल से बाहर जाएं। रिलीफ टीम को अपना काम करने दे, उन्हें रास्ता दे। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार इस तरह के मॉक ड्रिल से तैयारियों का जायजा लिया जा रहा है , ताकि भविष्य में अगर किसी तरह की दुर्घटना हो तो बेहतर से बेहतर आपातकाल सेवा प्रदान किया जा सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!