प्रेमीका ट्रेच गड्डे में गिर गई तो उसी का दुप्टा से गर्दन में बांध कर प्रेमी ने कर दी हत्या

तकनिकी सहायता से जगन्नाथपुर एसडीपीओ प्रदीप उरांव नें हत्यारा को गिरफ्तार और महज सात दिन में पार्वती लागुरी हत्याकांड का किया खुलासा

चाईबासा। सात दीन पूर्व जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले बुड़ाकमान जाने वाले रास्ते के डकुवा जंगल में अज्ञात अपराधियों द्वारा अज्ञात 21 वर्षिय युवती कि हत्या कर फेंक दिया गया था जिसे जगन्नाथपुर पुलिस ने शव बरामद कर मामले की जांच में जुटी हुई थी।इसी मामले सात दीन बाद ही जगन्नाथपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रदीप उरांव के द्वारा मामले का खुलाशा करते हुए तकनिकी शेल का सहायता लेकर हत्यार को गिरफ्तार करने में सफल रहे। और गिरफ्तार अभियुक्त को शनिवार को जेल भेज दिया गया।इस सबंध में शनिवार को दैनिक भास्कर से बातचित करते हुए जगन्नाथपुर एसडीपीओ प्रदीप उरांव नें बताया कि डकुवा जंगल के मुण्डा संग्राम सिंह के द्बारा बताया गया था कि बुढ़ाकमान में एक अज्ञात लड़की के शव पड़ा हुआ है।इसी सुचना के आलोक में जगन्नाथपुर थाना में अज्ञात अपराधियों के बिरूद्व मामला दर्ज किया गया था।वादी द्वारा लिखित सूचना के आलोक में अनुपु पदा जगन्नाथपुर , थाना प्रभारी जगन्नाथपुर एवं थाना के सशस्त्र बल सा बुढ़ाकमान स्थित घटनास्थल पहुंचे तो पाये की डाकुवा जंगल में खोदे गये ट्रेंच ( गड्ढे ) में एक अज्ञात लड़की जिसकी उम्र करीब 22 वर्ष होगी , का शव पड़ा हुआ है । शव को देखने से प्रथम दृष्टया से ऐसा प्रतीत हुआ कि किसी अज्ञात अभियुक्तों के द्वारा 08-09 दिन पहले हत्या कर शव को गडढ़े में फेंक दिया गया है जिसे पुलिस टीम द्वारा शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमाटर्म के लिए सदर अस्पताल चाईबासा भेजा गया तथा पोस्टमार्टम उपरांत शव को शीत गृह में रखा गया था। 17 फरवरी को उक्त शव की पहचान हेतु फोटोग्राफ समाचार पत्र में प्रकाशित की गई । खबर प्रकाशित होने के पश्चात उक्त शव के परिजन माता मानी लागुरी जेटेया थाना क्षेत्र के उदाजो गांव में रहती है।और मृतका का मामा उदाजो सुरेश बोंबोंगा कलईया के टोला मानकीसा जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र मेंरहते वे दोनो थाना पहुंचे एवं बताये कि खबर में प्रकाशित मृतिका मेरी बेटी है जिसकी नाम पार्वती लागुरी है जिसे जगन्नाथपुर थाना द्वारा सदर अस्पताल चाईबासा ले जाकर पहचान कराने के बाद शव को दाह संस्कार हेतु उन्हें सुपूर्द किया गया । पुलिस द्वारा पेशेवर तरीके से अनुसंधान के क्रम में मृतिका का मोबाईल नं 0 प्राप्त कर तकनीकी सहायता से संदेह के आधार पर एक संदेही व्यक्ति शम्भु बोबोंगा उम्र करीब 23 वर्ष को उसके घर से 19 फरवरी को अपने कब्जे में लेकर पुछताछ करने पर घटना कारित करने की बात को स्वीकार किया है । जिसे बाद में गिरफ्तार किया गया । इन्होंने बयान में बताया कि वह वर्ष 2016 से मृतिका पार्वती लागुरी से प्रेम करता था । अभियुक्त जब किसी दूसरी लड़की से बातचीत करता था तो मृतिका उसे गाली गलौज करने लगती थी और बोलती थी कि तुम दूसरी लड़की से क्यों बात करते हो । मृतिका अभियुक्त से शादी करना चाहती थी पर अभियुक्त उससे शादी नहीं करना चाहता था । मृतिका बराबर शादी करने का दबाव बनाती थी और बोलती थी कि तुम मुझसे शादी नहीं करोगे तो तुम्हें केश में फंसा दूंगी या जहर खाकर आत्महत्या कर लुंगी । मृतिका द्वारा बार – बार शादी का दबाव बनाने एवं किसी केश में फंसा देनी की धमकी देने के कारण अभियुक्त ने आवेश मे आकर सोचा कि मृतिका को हमेशा के लिए अपने रास्ते से हटा देना चाहिए और सुनियोजित तरीके से पांच फरवरी के संध्या में मोबाईल के माध्यम से मृतिका को फोन कर तोड़ांगहातु रेलवे क्रॉसिंग के पास बुलाया और वहाँ से अपने मोटरसाईकिल में बैठाकर शाम में बुढ़ाकमान जाने वाली रास्ता में जंगल के किनारे ले जाकर मृतिका को उसी के दुपट्टा से गर्दन में कसकर हत्या करने का प्रयास किया तो वह अपने आप को छुड़ाकर भागने लगी और पास के ही ट्रेंच ( गड्ढ़े ) में गिर गई तो अभियुक्त के द्वारा पुनः मृतिका को पकड़कर तथा लात – घुसा से मारकर अपने दोनो हाथों से गला दबाकर हत्या कर दिया और शव को उसी गड्ढे में ही छोड़कर भाग गया । उक्त अप्राथमिकी अभियुक्तों के निशानदेही पर पुलिस द्वारा घटनास्थल के आस – पास के जंगल में हत्या के उपरांत छिपाये गये मृतिका के आधार कार्ड एवं पासबुक को बरामद किया गया है तथा साथ ही उसके घर से घटना में प्रयुक्त किये गये बजाज पलसर 220 , संख्या JHO6N 0837 मोटरसाईकिल को भी विधिवत जप्त किया गया है। शनिवार को गिरफ्तार अप्राथमिकी शम्भु बोबोंगा उम्र करीब 23 वर्ष को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

गिरफतारी दल में शामिल पदाधिकारी एवं सशस्त्र बल

जगन्नाथपुर एसडीपीओ प्रदीप उराँव,पुनि लक्ष्मण प्रसाद , नोवामुण्डी अंचल, पुअनि देवसाय भगत , थाना प्रभारी जगन्नाथपुर – सह – अनुसंधानकर्ता पुअनि जॉनी कुमार,सअनि उमेश प्रसाद एवं थाना के सशस्त्र बल ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!