केंद्र सरकार के जनविरोधी नीति के खिलाफ श्रम संगठनों का 29 घंटे का भूख हड़ताल दूसरे दिन भी जारी।

देश भर में तमाम श्रम संगठनों ने जनविरोधी नीति एवं श्रम कानूनों में बदलाव के खिलाफ 29 घंटो का भूख हड़ताल किया जा रहा है जिसके तहत जमशेदपुर के साकची गोलचक्कर पर भी इसका आयोजन किया गया है।

इस अनशन में इंटक , एटक, सीटू समेत कई श्रम संगठन शामिल हो रहे हैं । जमशेदपुर में अनशन के दूसरे दिन चिकित्सक पहुँचे जहां उन्होंने सभी अनशनकारियों के स्वास्थ की जांच की , इस दौरान इंटक के प्रदेश अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय धरना में शामिल हुए , अनशनकारियों के अनुसार श्रमिकों ने अंग्रेजों के जमाने में आंदोलन कर श्रमिको के हितों के रक्षा के लिए 44 कानून बनवाये थे , लेकिन वर्तमान सरकार ने इन तमाम कानूनों को निरस्त करते हुए चार नए कानून बनाये हैं , इन्होंने कहा कि ये चार नए कानून केवल उद्योगपतियो को फायदा पहुँचाने के लिए बनाए गए हैं और इससे श्रमिकों का शोषण चरम सीमा पर होगा , जिस कारण देश भर में आंदोलन छेड़ा गया है और इन कानूनों को वापस लेने की मांग की जा रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!