भारतीय सेना के मीडियम 16 बटालियन में पदस्थापित सेना के जवान संजय पांडेय के पार्थिव शरीर को आदित्यपुर लाया गया.

भारतीय सेना के मीडियम 16 बटालियन में पदस्थापित सेना के जवान संजय पांडेय के पार्थिव शरीर को शुक्रवार को उनके आदित्यपुर कॉलोनी मार्ग संख्या 17 स्थित पैतृक आवास लाया गया. जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ भारतीय सेना के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया. इस दौरान पूरा इलाका संजय पांडेय अमर रहे और भारत माता की जय के जयकारों से गूंजता रहा. संजय एक नेशनल लेवल के वॉलीबॉल खिलाड़ी थे और स्पोर्ट्स कोटे से उनकी सेना में बहाली हुई थी. संजय लीवर की बीमारी से ग्रसित हो गए थे और दिल्ली स्थित सेना के सबसे बड़े अस्पताल आरआर हॉस्पिटल में पिछले 2 सालों से वे इलाजरत थे. जहां 24 फरवरी को उनकी तबीयत अचानक ज्यादा खराब हो गई, और उन्होंने दम तोड़ दिया.

इधर शुक्रवार को रांची से सड़क मार्ग से स्वर्गीय संजय पांडे का पार्थिव शरीर पहले जमशेदपुर आर्मी कैंप लाया गया. वहां से सैन्य सम्मान के साथ पार्थिव शरीर को आदित्यपुर स्थित उनके पैतृक आवास पर लाया गया. जहां गार्ड ऑफ ऑनर के बाद वैदिक रीति से अंतिम संस्कार की रस्म अदायगी के बाद शव यात्रा बिष्टुपुर स्थित पार्वती घाट के लिए निकली. वहीं श्रद्धाजंलि देनेवालों में जिला पुलिस, आदित्यपुर नगर निगम के मेयर विनोद कुमार श्रीवास्तव, नगर परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष पुरेन्द्र नारायण सिंह, जुस्को श्रमिक यूनियन के अध्यक्ष रघुनाथ पांडेय, भाजपा नेता रमेश हांसदा, कांग्रेसी नेता सुरेश धारी, समरेंद्र तिवारी, पूर्व सैनिक भूषण सिंह सहित हजारों की संख्या में आदित्यपुर वासियों ने नम आंखों से अपने लाल को अंतिम विदाई दी. स्वर्गीय पांडेय के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी एक पुत्र और एक पुत्री है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!