टाटा कंपनी में दलित मजदूर के साथ हो रही शोषण के खिलाफ मजदूरों ने दिया जुबली पार्क गेट के समक्ष धरना

जमशेदपुर शहर के दलित समाज के मजदूरों ने मानगो को लेकर झारखंड मजदूरों के बैनर तले साकची स्तिथ जुबली पार्क गेट के समक्ष एक दिवसीय धरना दिया। झारखंड मजदूर यूनियन विगत कई महीनों से टाटा स्टील और उसके अधीन अन्य कंपनियों में दलित परिवार के मजदूरों के साथ हो रहे शोषण को लेकर आंदोलित है पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत टाटा के जयंती के अवसर पर जुबली पार्क गेट के समक्ष धरना देने का आह्वान किया था उसी के तहत झारखंड मजदूर यूनियन के समर्थन में अन्य दलित समाज के संगठनों ने एक दिवसीय धरना में बैठे मजदूर यूनियन के संरक्षक दुलाल भुइँया ने कहा के जमशेदपुर में दलित परिवार के मजदूरों के साथ कंपनियों में भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाए जा रहा है और उन्हें काफी कम वेतन पर काम कराया जाता है इतना ही नहीं मजदूरों के आश्रितों को सीधी बहाली भी नहीं ली जाती है साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जमशेदपुर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले सब्जी विक्रेताओं की जगह को दबंगों द्वारा अतिक्रमण कर लिया जा रहा है जिस और प्रशासन ध्यान नहीं दे रही है उन्होंने कहा कि शहर में मजदूरों के साथ हो रहे शोषण की ओर जमशेदपुर पहुंचे रतन टाटा का ध्यान आकर्षित कराने के लिए ही यह धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!