मध्यान्ह भोजन योजना आरंभ करने के पूर्व कोरोना से संबंधित सावधानियां बरती जाने को लेकर सदर बीइइओ नागेश्वर सिंह की अध्यक्षता में विशेष बैठक

चाईबासा: विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना आरंभ करने के पूर्व कोरोना से संबंधित सावधानियां बरती जाने को लेकर सदर बीइइओ नागेश्वर सिंह की अध्यक्षता में विशेष बैठक नगरपालिका बांग्ला मध्य विद्यालय में बुलायी गई। इसमें सदर व नगरपालिका क्षेत्र के मध्य व उच्च विद्यालयों के प्रधानाध्यापक/प्रधानाध्यापिकाएं शामिल हुए। बैठक में बताया गया कि मध्याह्न भोजन योजना आरंभ करने के पूर्व सभी रसोइयों का कोरोना टेस्ट कराना आवश्यक है। सोमवार से सदर अस्पताल में रसोइयों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा।कोरोना टेस्ट नेगेटिव आने पर ही भोजन बनाने की अनुमति दी जाएगी।उन्हें साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखते हुए खाना बनाने एवं सब्जी काटने के दौरान मास्क पहनना जरूरी है। साथ ही, रसोइया को नेल पॉलिश, घड़ियां, अंगूठियां, गहने और चूड़ियां नहीं पहनना है। बताया गया कि ताजा सब्जी ही पकाना है। रसोई घर के अंदर और बाहर प्रतिदिन स्वच्छ वातावरण रखना है। महीनों से बचे हुए तेल मसाले का उपयोग नहीं करना है। स्वच्छ वातावरण में भोजन वितरण करने के लिए माता-पिता,समुदाय, विद्यालय प्रबंधन समिति सदस्य, शिक्षकों की सक्रिय एवं सकारात्मक भागीदारी सुनिश्चित हो। बताया गया कि भोजन के लिए प्रयुक्त पेयजल की स्वच्छता पर‌ उचित ध्यान देना है।


बैठक में जिले के मध्यान्ह भोजन स्टीयरिंग कमेटी के शिक्षक प्रतिनिधि असीम कुमार सिंह ने उपायुक्त की अध्यक्षता में बुलाई गई बैठक में दिए गए निर्देशों के बारे में बताए। बैठक में उपेन्द्र सिंह,विनय कुमार सिंह, शरद गुप्ता, कृष्णा देवगम, सिस्टर नीलिमा, राजकिशोर साहू, हरिशंकर प्रसाद,शकुंतला दिग्गी, नीलिमा कंडुलना, मालती सिंकू, संजय हेरेंज, वशिष्ठ प्रधान समेत पचासों प्रधानाध्यापक व प्रधानाध्यापिकाएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!