संयुक्त सहायक अभियंता विशेष (बैकलाॅग) भर्ती प्रतियोगिता का मामला, विधायक दीपक बिरुवा ने सदन में उठाया

विधायक दीपक बिरुवा ने कहा– बैकलाॅग रिक्तियों को खत्म करने की साज़िश

मामला फंसने पर विभाग का घालमेल जवाब, नियमावली का दे रहा हवाला

विज्ञापन के पांच साल बाद भी नहीं ली गई परीक्षा

वर्ष 2015 में निकला था विज्ञापन, अभ्यर्थियों ने किया था आनलाइन आवेदन

चाईबासा। विधानसभा में विधायक दीपक बिरुवा ने वर्ष 2015 में पथ निर्माण विभाग और जल संसाधन विभाग में संयुक्त सहायक अभियंता विशेष बैकलाॅग भर्ती प्रतियोगिता में आदिवासियों की आरक्षित सीट को खत्म करने का मामला उठाया। जिस पर विभाग द्वारा भी घालमेल जवाब दिया जा रहा है।
विधायक दीपक बिरुवा ने कहा इस प्रतियोगिता के तहत पथ निर्माण विभाग में एसटी के लिए 29 और जल संसाधन विभाग में एसटी के लिए 4 सीटों पर स्पेशल एक्जाम होना था। पर जेपीएससी द्वारा परीक्षा नहीं लिया गया। विभाग द्वारा झारखंड अभियंत्रण सेवा नियुक्ति नियमावली 2016 का हवाला दे रही है, जबकि यह अब विचाराधीन है, जो कैबिनेट से भी पारित नहीं है। श्री बिरुवा ने कहा कि एक साज़िश के तहत बैकलाॅग रिक्तियों को खत्म किया जा रहा है।

विधायक दीपक बिरुवा ने सदन में पूछे गए प्रश्न–
क्या यह सही बात है कि झारखंड लोक सेवा आयोग के विज्ञापन संख्या 07/2015 द्वारा पथ निर्माण एवं जल संसाधन विभाग में संयुक्त सहायक अभियंता विशेष (बैकलाॅग) भर्ती प्रतियोगिता परीक्षा हेतु 14/10/2015 तक आवेदन समर्पित करने के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया गया था। जिस पर विभाग ने स्वीकारात्मक जवाब दिया।
विधायक श्री बिरुवा ने कहा कि उक्त विज्ञापन के आलोक में योग्यताधारी अभ्यर्थियों द्वारा आनलाइन आवेदन समर्पित किया गया तथा 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक विज्ञापन के आलोक में परीक्षा आयोजित नहीं कराया गया। इस मामले को भी विभाग द्वारा स्वीकारा गया।

पुनः विधायक श्री बिरुवा ने प्रश्न किया कि क्या यह बात सही है कि झारखंड लोक सेवा आयोग द्वारा संशोधित परीक्षा/साक्षात्कार हेतु प्रकाशित कैलेंडर वर्ष 2020-21 में खंड 1 से संबंधित विज्ञापन का कोई उल्लेख नहीं किया गया है। इस पर भी विभाग ने स्वीकारात्मक जवाब दिया।

विधायक दीपक बिरुवा ने कहा कि यदि उक्त प्रश्नो के उत्तर स्वीकारात्मक है तो क्या सरकार कैलेंडर वर्ष 2020-21 में ही प्रश्न 1 में वर्णित विज्ञापन को शामिल करते हुए प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित करने का विचार रखती है।
इस पर विभाग द्वारा बताया गया कि वर्ष 2015मे बिहार अभियंत्रण सेवा नियुक्ति नियमावली 1991 के प्रावधानों के आलोक में पथ निर्माण विभाग एवं जल संसाधन विभाग से प्राप्त अधियाचनाओ के आलोक में झारखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा विज्ञापन संख्या 07/2015 प्रकाशित की गई थी।
इसके बाद झारखंड अभियंत्रण सेवा नियुक्ति नियमावली 2016 के गठन के बाद पथ निर्माण विभाग के पत्रांक 5052 दिनांक 31/08/2018 द्वारा इस नियमावली के प्रावधानों के आलोक में नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने का आग्रह आयोग से किया गया।
उक्त संबंध में आयोग के पत्रांक 2253 दिनांक 20/09/2018 द्वारा अधियाचनाओ को वापस लेते हुए झारखंड अभियंत्रण सेवा नियुक्ति नियमावली 2016 के प्रावधानों के अनुरूप अधियाचना आयोग को उपलब्ध कराने का अनुरोध पथ निर्माण विभाग से किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!