चक्रधरपुर विधायक के उपस्थिति में चाईबासा शहरी जलापूर्ति योजना के अवशेष निर्माण कार्य का किया गया शिलान्यास

चाईबासा। झारखंड राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के नेतृत्व तथा सिंहभूम क्षेत्र की सांसद श्रीमती गीता कोड़ा, चक्रधरपुर के विधायक सुखराम उरांव, चाईबासा नगर परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष डोम मिंज की उपस्थिति में शहरी क्षेत्रों में जलापूर्ति हेतु महत्वाकांक्षी चाईबासा शहरी जलापूर्ति योजना के अवशेष निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर चाईबासा शहर अवस्थित उड़िया विद्यालय के प्रांगण में आयोजित समारोह में पश्चिमी सिंहभूम जिला उपायुक्त अरवा राजकमल, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के अधीक्षण अभियंता प्रभात कुमार सिंह, चाईबासा कार्यपालक अभियंता संजय शर्मा, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी अभय कुमार झा सहित सभी वार्ड पार्षद एवं प्रबुद्ध नागरिक गण उपस्थित रहे। इस जलापूर्ति योजना के तहत चाईबासा शहर के कुल 21 वार्डों के साथ-साथ शहर के बाहर 1 किलोमीटर परीधि के ग्रामीण क्षेत्र जैसे मोचीसाई, सरायकेला मोड़, मटकमहातु, खप्परसाई आदि ग्रामों को भी योजना क्षेत्र में लिया गया है तथा इस योजना से कुल 17,000 घरों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के फलस्वरुप कुल 82,629 लोग लाभान्वित होंगे तथा योजना को पूर्ण करने की समय सीमा 31 अक्टूबर 2021 तक निर्धारित है।


शिलान्यास समारोह के दौरान अपने संबोधन में विभागीय मंत्री मिथलेश ठाकुर ने कहा कि आज चाईबासा शहरी जलापूर्ति योजना का अवशेष निर्माण कार्य का शिलान्यास होना सभी शहरवासियों के लिए एक खुशी का पल है। उन्होंने कहा कि आज कहीं ना कहीं दिल दुखी भी है की एक योजना जिसका इंतजार चाईबासावासी एक लंबे अरसे से कर रहे हैं परंतु आज तक यह योजना जनता को समर्पित नहीं हो पाई है। उन्होंने कहा कि इस योजना को धरातल पर साकार करने हेतु जो प्रयास किया गया है उसका प्रत्यक्ष गवाह मैं स्वयं हूँ। विभागीय मंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत पूर्व के नगरपरिषद क्षेत्र यथा मोचीसाइ, पुलहातु या टाटा कॉलेज का क्षेत्र हो अर्थात नगरपरिषद के आगे 1 किलोमीटर की परिधि में जलापूर्ति किया जाएगा।

विभागीय मंत्री ने कहा कि विभाग का कार्यभार संभालते ही ग्रीष्म ऋतु प्रारंभ हो गया था तथा पेयजल आपूर्ति से संबंधित सभी विभागीय अभियंताओं के साथ बैठक आयोजित करते हुए स्पष्ट निर्देश दिया गया कि आप सभी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में तत्पर रहें एवं गर्मी के दिनों में कहीं से भी पेयजल की समस्या होने की सूचना प्राप्त नहीं हो। उन्होंने बताया कि विभागीय सचिव सहित सभी अभियंता बधाई के पात्र हैं उनके द्वारा बेहतर कार्य करते हुए 1-2 समस्याओं के अलावे कहीं से भी पेयजल से संबंधित कोई अन्य सूचना प्राप्त नहीं हुआ और इस वर्ष भी पेयजल एवं स्वच्छता विभाग को अपने अभियंता सहित पूरे टीम पर पूरा भरोसा है कि वह सुनिश्चित करवाएंगे कि जितने भी चापाकल खराब पड़े हैं सभी को दुरुस्त कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!