पोटका हेसड़ा पंचायत के हेसड़ा झरना में जल संरक्षण कर एक दर्जन किसान कई एकड़ जमीन में सब्जी उगाकर लाखों कमा रहे हैं

Jamshedpur – पोटका हेसड़ा पंचायत के हेसड़ा झरना में जल संरक्षण कर एक दर्जन किसान कई एकड़ जमीन में सब्जी उगाकर लाखों कमा रहे हैं साथ ही मत्स्य पालन एवं बत्तख पालन कर स्वावलंबी बन रहे हैं.


हेसड़ा के ग्राम प्रधान राम रंजन प्रधान का कहना है कि इस पारंपरिक जल स्रोत से सालों भर पानी बहता रहता है जिसके कारण आसपास के 8-10 किलोमीटर रेडियस के सभी लोग गर्मी में नहाने आते हैं एवं इसी जल से लगभग एक दर्जन किसान साग – सब्जी एवं फसल उगा कर लाखों कमा रहे हैं इस झरने का पानी कभी सूखता नहीं है की किसान मोटर लगाकर दिन-रात गर्मी में भी सिंचाई कर रहे हैं इसके बाद भी यह पानी कभी सूखता नहीं ग्रामीण स्वयं इसकी देखरेख करते हैं एवं स्वयं मिट्टी – पत्थर देकर डैम का निर्माण किए हैं इससे जल संचय कर सब्जी की खेती ऊगाकर समृद्ध हो रहे हैं वही कोकिल दास जो किसान है उनका कहना है कि इस जलती गर्मी में भी इस झरने के जल से हम लोग सब्जी की खेती कर रहे हैं और अच्छी खासी कमाई कर रहे हैं मगर इन जल स्रोतों का साफ सफाई नहीं हो पाया है जल स्रोतों का यदि जीर्णोद्धार हो जाए तो बड़े पैमाने पर बतख पालन, मत्स्य पालन किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!