सदर अस्पताल के मरीजों को भोजन खिलाने वाला खुद भूखा, एलॉट नहीं आने के कारण 1 साल से बकाया है रसोईया का पेमेंट

चाईबासा। झारखण्ड सरकार स्वास्थ्य , चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में अन्तःवासी मरीजों को दिये जाने वाले पथ्य के दर को 50 रू. प्रति मरीज प्रतिदिन से बढ़ाकर 100 रू. प्रति मरीज प्रतिदिन एवं विशेष मरीजों के लिए 125 रू. प्रति मरीज प्रतिदिन किया गया है। जिसे तत्काल प्रभाव से सरकार ने लागू कर दिया गया है। लेकिन चाईबासा सदर अस्पताल में सिविल सर्जन ओम प्रकाश गुप्ता का जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई जाने के कारण इस दिशा मे कागजी प्रक्रिया तक आरम्भ नहीँ हो पाई है। जिस वजह से बढ़े हुए दर पर सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों को पथ्य,नाश्ता व भोजन उपलब्ध कराने में विलंब हो रही हैl

ज्ञात हो कि बढ़ती मंहगाई एवं खाद्य सामग्रियों के दामों में उतरोत्तर वृद्धि को दृष्टिपथ में रखते हुए अपर निदेशक , स्वास्थ्य सेवाएं , झारखण्ड की अध्यक्षता में गठित छः सदस्यीय समिति के द्वारा राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों के अन्त : वासी मरीजों को पौष्टिक भोजन / पथ्य एवं नाश्ता आदि का मेनू निर्धारित करते हुए राज्य के सभी अस्पतालों में अन्तः वासी मरीजों के लिए पथ्य राशि को बढ़ाकर 100 रू. प्रति मरीज प्रतिदिन एवं विशेष मरीजों यथा वर्न पेसेंट, हाईपोप्रोटीनेमिक, टुबरक्लोसिस और कैंसर मरीजों के लिए 125 रू.प्रति मरीज प्रतिदिन किये जाने की अनुशंसा की गयी है।ताकि मरीजों को तीन वक्त पौष्टिक भोजन / पथ्य उपलब्ध कराया जा सके। सामान्य मरीजों के लिए अस्पताल में औसत भर्ती दिवस दो दिन तथा विशेष मरीजों के लिए औसत भर्ती दिवस पांच दिन माना गया है। उक्त व्यय का वहन स्थापना व्यय बजट शीर्ष -22 0 चिकित्सा तथा लोक स्वास्थ्य अन्तर्गत संबंधित अस्पतालों के उपशीर्ष के तहत अपूर्ति एवं सामग्री इकाई से किया जायेगा ।यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू है।

सदर अस्पताल के मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने वाले ठेकेदार शबनम ने बताया कि आदेश आते ही मरीजों को बढ़े हुए दर मे मेनू के आधार पर नाश्ता भोजन आदि पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका पिछले 1 साल का पेमेंट बकाया है। वह किसी तरह उधारी में बाजार से खाद्य सामग्री लेकर सदर अस्पताल के मरीजों को खिला. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि सिविल सर्जन के स्वस्थ्य होते ही बढ़े हुए दर पर मरीजों को नाश्ता व भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार से एलॉट आने पर ठेकेदार रसोईया को पिछले 1 साल का बकाया पेमेंट किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!