राज्य में गर्मी का सितम सातवें आसमान पर है. हर दिन पारा बढ़ता जा रहा है. उधर जलस्तर पाताल लोक में पहुंच चुका है, और लोग बूंद बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं.

राज्य में गर्मी का सितम सातवें आसमान पर है. हर दिन पारा बढ़ता जा रहा है. उधर जलस्तर पाताल लोक में पहुंच चुका है, और लोग बूंद बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं. जमशेदपुर में पारा 40 डिग्री तक पहुंच गया है. पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के मानगो इलाके के दर्जनों बस्तियों में पानी की घोर किल्लत शुरू हो चुकी है. पिछले दो दिनों से गौर बस्ती, कृष्णा नगर, पोस्ट ऑफिस रोड और चटिया बस्ती में पानी की सप्लाई नहीं हो रही है.

इधर गुरुवार को बस्ती वासियों का सब्र जवाब दे गया, और सैकड़ों की संख्या में महिला- पुरुष, बुजुर्ग और जवान हाथों में बाल्टी तसली लेकर सड़क पर उतरे और पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, स्थानीय विधायक और नगर निगम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. लोगों का आरोप है, कि बस्ती में कई सालों से पीने की पानी की घोर किल्लत है. शिकायत के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है. स्थानीय लोगों का कहना है, कि पानी का कनेक्शन लेने के बाद पानी का बिल भी जमा करते हैं, लेकिन पानी नदारद है. आपको बता दें, कि जमशेदपुर पश्चिम के विधायक राज्य के मंत्री बन्ना गुप्ता है. खुद को जनता के लिए, जनता द्वारा, जनता का प्रतिनिधि बताने वाले मंत्री आखिर जनता के इस दर्द को क्यों नहीं समझना चाहते. हर बार मानगो इलाके में भीषण जल संकट होता है. लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरसते हैं. इसका कोई ठोस प्रबंध क्यों नहीं होता है. नगर निगम किस काम का है. ऐसे कई सवाल हैं, जिसका जवाब मांगने लाचार- बेबस जनता सड़क पर उतर चुकी है. वैसे पानी की किल्लत झेल रहे लोगों ने आने वाले दिनों में उग्र आंदोलन की बात कही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!