पोटका में सबर परिवार का आंकड़ा ज्यादा दिखा कर वर्षों से किया जा रहा था अनाज घोटाला

पोटका – पोटका के सैकड़ों सबर परिवारों को जब पीटीजी के तहत चावल का वितरण करने डाकिया योजना के तहत टीम गांव पहुंचता है तो सबर परिवार चावल वितरण करने वाले एवं इसकी देखरेख करने वाले वीरेंद्र कुमार पंडित को एक बात जरूर पूछते हैं कि साहब चीनी, नमक एवं किरासन तेल कब मिलेगा वितरण पदाधिकारी वीरेंद्र कुमार पंडित का कहना है कि हमें सिर्फ चावल बांटने ही मिलता है चीनी एवं किरासन तेल नमक आदि वितरण करने की बात होगी तो मैं जरूर दूंगा वही सबर परिवारों को किरासन तेल नमक मिले ना मिले मगर फरवरी 2021 को प्रत्येक राशन कार्ड धारियों को डेढ़ लीटर किरासन और 1kg नमक जरूर मिल गया है धरातल पर सच्चाई भले जो भी हो मगर सबर परिवारों को उनका अधिकार नहीं मिल पा रहा है उन्हें न तो चीनी किरासन तेल एवं नमक मिल पा रहा है इनका कहना है की गर्मी के दिनों में तेज बारिश के कारण कई दिनों तक बिजली नहीं आती तो हम सब अंधेरा में ही रहते हैं हम सबों को जंगल किनारे जंगली जानवरों से बचने के लिए किरासन तेल की आवश्यकता तो जरूर पड़ती है.

पोटका में सबर परिवार का आंकड़ा ज्यादा दिखा कर वर्षों से किया जा रहा था अनाज घोटाला डाकिया योजना के तहत पोटका में कुल 429 सबर परिवार हैं मगर जब वीरेंद्र कुमार पंडित को वितरण करने के लिए दिया गया तो पहले महीना जनवरी 2021 से लेकर अप्रैल 2021 तक 402 ही परिवार सामने आए बाकी 27 परिवार का कहीं अता पता नहीं है यानी 27 कार्ड फॉल्स बनाकर किया जा रहा था अनाज घोटाला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!